Saturday Jan 22, 2022

Navy Day 2021: 4 दिसंबर को ही क्यूँ मनाया जाता है नौसेना दिवस (Hindi)

bhartiya nausena diwas

भारतीय नौसेना दुनिया भर में मौजूद पेशेवर सेनावों में से एक है। भारतीय नौसेना की कामयाबी के चर्चे पन्ने पन्ने में दर्ज है। आइये जानते हैं 4 दिसंबर को ही क्यूँ मनाया जाता है नेवी डे (नौसेना दिवस)।

4 दिसंबर नौसेना दिवस के मुख्य तथ्य

  • ऑपरेशन ट्राइडेंट' की कामयाबी के रूप में नौसेना दिवस मनाया जाता है
  • ‘ऑपरेशन ट्राइडेंट’ के तहत 4 दिसंबर, 1971 को भारतीय नौसेना ने पाकिस्तान के कराची नौसैनिक अड्डे पर हमला बोला था
  • पाकिस्तानी सेना ने 3 दिसंबर को हमारे हवाई क्षेत्र और सीमावर्ती क्षेत्र में हमला किया
  • पाकिस्तान को जवाब देने के लिए ‘ऑपरेशन ट्राइडेंट’ चलाया गया
  • इस लड़ाई में पहली बार जहाज पर मार करने वाली एंटी शिप मिसाइल से हमला किया गया
  • पाकिस्तान के कई जहाज नेस्‍तनाबूद कर दिए गए

इंडियन नेवी की स्थापना कब हुई

इंडियन नेवी की स्थापना 26 जनवरी 1950 को हुई थी। भारतीय नौसेना की उत्पत्ति 1612 में हुई, जब कैप्टन बेस्ट की कमान में एक अंग्रेजी पोत ने पुर्तगालियों का सामना किया। हालाँकि पुर्तगालियों की हार हुई थी, इस घटना के साथ-साथ समुद्री लुटेरों द्वारा व्यापारी जहाजों को होने वाली परेशानी ने अंग्रेजों को सूरत, गुजरात के पास बेड़े को बनाए रखने के लिए मजबूर किया। ईस्ट इंडिया कंपनी ने एक नौसैनिक शाखा का गठन किया, और लड़ाकू जहाजों का पहला स्क्वाड्रन 5 सितंबर 1612 को गुजरात तट पर पहुंचा। जब भारत 26 जनवरी 1950 को एक गणतंत्र बना, तो शाही उपसर्ग हटा दिया गया और भारतीय नौसेना का नाम आधिकारिक तौर पर अपनाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top